Wednesday, September 8, 2010

एक छोटी सी मुलाकात मित्रों से...



हफ्फ हफ्फ...! दोस्त क्या तुम मेरी तरह उड़ सकते हो?

हैलो दोस्तों! common hug me :)

अरे! ये क्या है?

यह मेरी सबसे प्यारी दोस्त है और आपकी?

Wow! देखो दोस्तों मेने एक नए और आरामदायक बिस्तर की खोज की है आप भी try कर सकते हैं। :)

hello friends देखिये मैं ईश्वर की बेहतरीन कला की एक मिसाल हूँ।

और मैं भी :)

Dear Friends मुझमें हड्डी नहीं है फिर भी मैं कितनी खुबसूरत हूँ और मुझे इस प्रकृति का एक हिस्सा होने में गर्व है। :)

दोस्तों मैं दिखने में बहुत ही खुबसूरत मेंढक हूँ पर मुझसे दूरी बनाकर रखिये क्योंकि में बहुत जहरीला हूँ।

हे हे .... दोस्तों मैं आपका मिट्ठू :) प्यार से सब मुझे तोताराम बुलाते हैं..... हैंssssssss... यह मेरे जैसे ही एक और मिट्ठू? और हम दोनों के बीच में ये
तीसरा
कौन है ? मुझे नहीं पता जी....

hello! देखिये मेरी मुस्कान मोनालिज़ा जैसी है। है ना? :)

मित्रों मुझे बचाइए! देखिये मैं कितना प्यारा और नन्हा सा पंछी हूँ, मुझे किसी के प्लेट का नाश्ता नहीं बनना है.....

मुझे इंसानों ने खुबसूरत बनाया है

Oh! come on... डरिये मत मैं हूँ ना! मैं आपको उड़ना सिखाऊंगा :)

आज मैं बहुत दुखी हूँ दोस्तों :( जिन्दगी भी एक नशा है दोस्तों जब चढ़ता है तो मत पूछो क्या आलम रहता है ..... लेकिन जब उतरता है तब.......

देखिये मेरी खूबसूरती :)

मैं आपके प्रकृति के garden का राजा हूँ। :)

और मैं आपके झील का एक प्यारा सा बत्तख हूँ :)

नमस्ते दोस्तों! यह मेरी माँ हैं इन्होने ही मुझे एक नया जीवनदान दिया है और मुझे पिंजरे में देखा बहुत निराश हो रही है :(

मैं एक बहुत ही खुबसूरत पर जहरीला समुद्री प्राणी हूँ :)

hello friends मुझसे घृणा मत कीजियेदेखिये मैं भी तो कितना प्यारा हूँ.... रोशनी के दोस्त मेरी चाल पर हँसते हैं।

मैं एक डॉल्फिन हूँ जो सारे मनुष्य जाति से स्नेह का भाव रखती है फिर भी लोग मेरा शिकार क्यों करते हैं? और मुझे एक छोटे से sweeming pool में रहना पसंद नहीं, मुझे मेरे घर समुद्र में छोड़ दीजिये :)

मैं Caño Cristales हूँ मुझे ना केवल दुनिया की सबसे खुबसूरत नदी के रूप में वरन "पञ्च रंगों की नदी The river of five colours" के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि मेरे पास बहुत खुबसूरत दृश्य होते हैं जब मुझमें उपस्थित शैवाल खिलते हैं :)

मैं लाल पांडा हूँ लोग मुझे फर प्राप्त करने के लिए मार देते हैं :(
मैं हंस हूँ और नीचे मेरा प्यारा परिवार है मुझे धार्मिक ग्रंथों में बहुत ही पवित्र माना गया है :)
तो फिर बताइए मित्रों हमारे इस दोस्तों से मिलकर आपको कैसा लगा? :)

3 comments:

माधव said...

वाह बहुत सुन्दर तसवीरें , मजा आ गया

Roshani said...

अच्छा तो माधव जी को अच्छा लगा :)

दीपक 'मशाल' said...

Roshnee ji,
bahut hi sundar chitron se saji post...
आपके ब्लॉग को आज चर्चामंच पर संकलित किया है.. एक बार देखिएगा जरूर..
http://charchamanch.blogspot.com/