Tuesday, October 5, 2010

Incredible India....?

क्या यही है Incredible India?.........

जहाँ २ वक्त की रोटी नसीब ना हो

जहाँ पहनने को वस्त्र नहीं....
जहाँ बच्चों का वर्तमान ऐसा हो..... तो देश का भविष्य कैसा होगा?
जहाँ बचपन कहीं खो सा गया हो....
जहाँ अमीरी और गरीबी में एक गहरी खाई हो.....

क्या ऐसा भारत हम बनायेंगे ?

11 comments:

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

सैकिंड तस्वीर इण्डिया नहीं बल्कि पाकिस्तान की है...

Roshani said...

धन्यवाद पंडित जी मैने उसे हटा दिया... :). गलतियों पर ध्यान दिलाने के लिए शुक्रिया.

अल्पना वर्मा said...

ये सभी तस्वीरें सच बोलती हैं..

Mumukshh Ki Rachanain said...

क्या ऐसा भारत हम बनायेंगे ?
नहीं हम ऐसे भारत कि तस्वीर बदलने के लिए विश्व बैंक से भरी भरकम पैसा क़र्ज़ में लेकर थोडा बहुत दिखावे का काम कर बाकी पैसा स्विस बैंक भिजवा देंगें................
कुछ ऐसे ही आदर्श से तो हम भी बंध गए है पिछले ६३ वर्षों में ........
चन्द्र मोहन गुप्त

zindagi-uniquewoman.blogspot.com said...

ha ye india ka sach hai....par india ka sach kuch or bhi hai....ye sirf ek pahlu hai or dusra pahlu khubsurat bhi hai....

Roshani said...

जी सच कहा अर्चना जी जब तक सरकार का हस्तक्षेप नहीं रहता तब तक सब कुछ खुबसूरत रहता है कल ही हम गाँव से वापस आ रहे थे जहाँ जहाँ सड़के बनी थी हमें बेहद तकलीफ हो रही थी और जहाँ सड़कें नहीं थी हमारी गाड़ी अच्छी चल रही थी. प्रदूषण का नामो निशान नहीं था. सब कुछ व्यवस्थित और कलात्मक था जैसे ही एक कस्बे में प्रवेश किया फिर दिखाई दिया अमीरी गरीबी का भेदभाव. वही गन्दगी जो शहरों में रहती है वही झुग्गी झोपड़ी. हम क्या दे रहे हैं व्यवस्था या फिर अव्यवस्था?

abhi said...

कड़वी सच्चाई..:(

आशीष/ ਆਸ਼ੀਸ਼ / ASHISH said...
This comment has been removed by the author.
आशीष/ ਆਸ਼ੀਸ਼ / ASHISH said...

इण्डिया और भारत का डिफ़रेंस रेखांकित कर रही हैं तस्वीरें!
आशीष
---
पहला ख़ुमार और फिर उतरा बुखार!!!

वीना said...

ये सारी तस्वीरें सच ही बोलती हैं पर हम क्या कर पा रहे हैं तो...अपनी तरफ से एक प्रयास भी करें तो कमसेकम संतुष्टि मिलेगी... हमेशा बुराई ही
क्यूं देखनी..कुछ अच्छा भी है....

यहां भी आइए
http://veenakesur.blogspot.com/

Anonymous said...

I think this is one of the most important information for me. And i am glad reading your article. But should remark on few general things, The website style is perfect, the articles is really nice